यूपी नि:शुल्क बोरिंग योजना 2023: UP Nishulk Boring Yojana

यूपी नि:शुल्क बोरिंग योजना 2023: UP Nishulk Boring Yojana: आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अपने राज्य के लघु एवं सीमांत किसानों के हित में संचालित की जाने वाली यूपी नि:शुल्क बोरिंग योजना 2023 के बारे में बताने जा रहे हैं

उत्तर प्रदेश में काई ऐसे लघु एवं सीमांत किसान है जिन्हें खेत की सिंचाई करते समय पानी की कमी का सामना करना पड़ता है जिसकी करण उन्हें सिंचाई करते समय काफी परेशानियां होती हैं इसी परेशानी का समाधान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने वर्ष 1985 में UP Nishulk Boring Yojana को आरम्भ किया था इस योजना के माध्यम से राज्य के किसानों को उनके खेत में नि:शुल्क बोरिंग की व्यवस्था उपलब्ध करवाई जाती है

UP Nishulk Boring Yojana 2023
UP Nishulk Boring Yojana 2023

इस लेख के माध्यम से हम आपको UP Nishulk Boring Yojana 2023 से जुड़ें महत्त्वपूर्ण जानकारी जैसे इसका क्या उद्देश है इसके लाभ और विशेषताएं क्या है इसके लिए क्या महत्व पूर्ण दस्तवेज की जरूरत होगी पात्रता कि शर्ते क्या है और आवेदन प्रक्रिया के बारे में सभी जानकरी देने वाले हैं

UP Nishulk Boring Yojana 2023

सन 1985 में प्रदेश के लघु एवं सीमांत किसानों को बोरिंग की सुविधा प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के द्वार यूपी नि:शुल्क बोरिंग योजना का शुभारंभ किया गया था UP Nishulk Boring Yojana के मध्यम से सामान्य जाति एवं अनुसुचित जाति अनुसुचित जनजाति के लघु एवं सीमांत कृषको को सिंचाई हेतू बोरिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी बोरिंग के लिए पंप सेट कि व्यवस्था करने के लिए कृषक द्वार बैंक से ऋण की प्राप्ति भी कि जा सकती है सामान्य श्रेणी के लघु एवं सीमांत किसानों को इस योजना का लाभ तब प्रदान किया जाएगा जब उनके पास न्यूनातम जोत सीमा 0.2 हेक्टेयर है

0.2 हेक्टेयर से कम जोत वाले सामान्य श्रेणी के किसानों को इस योजना का लाभ नहीं प्रदान किया जाएगा यदि किसानों के पास 0.2 हेक्टेयर से कम जोत है तो किसान इस योजना का लाभ किसानों का समूह बनाकर प्राप्त कर सकते हैं अनुसुचित जाति एवं जनजाति के लघु एवं सीमांत किसानों के लिए कोई नया जोत सीमा निर्धारीत नहीं की गई है

प्रदेश के पठारी क्षेत्रों में जहां हैंड बोरिंग सेट से बोरिंग किया जाना संभव नहीं होगा वहां इनवेल या वैगन ड्रिल मशीन से बोरिंग करने की अनुमति प्रदान की जाएगी इस स्थिति में किसानों को अनुमन्य सीमा तक ही अनुदान दे होगा अतिरिक्‍त आय व्‍यय का भर कृषक द्वार स्‍वयं ग्रहण किया जाएगा

UP Nishulk Boring Yojana / उत्तर प्रदेश मुफ्त बोरिंग योजना का उद्देश्‍य

इसका उद्देश्‍य राज्‍य के लघु एवं सीमांत किसानों को सिंचाई सुविधा के लिए पंप सेट स्‍थापित करने हेतू अनुदान प्रदान करना है योजना का मुख्य लक्ष्य आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करके सिंचाई की सुविधा का उपयोग करना है UP Nishulk Boring Yojana के मध्यम से किसान अपने खेत में पंप सेट लगाएंगे जिसके माध्यम से सुचारु रूप से सिंचाई की जा सकेगी फलस्वरूप उत्पादन में वृद्धि होगी और आर्थिक विकास में भी वृद्धि होगी इसके साथ ही किसान आत्मनिर्भर भी बनेंगे

UP Nishulk Boring Yojana के लाभ एवं विशेषताएं

निशुल्क बोरिंग योजना उत्तर प्रदेश के लाभ एवं विशेषताएं:

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सन 1985 में निशुलक बोरिंग योजना की शुरुआत की गई थी
  • इस योजना के माध्यम से सामान्य जाति, अनुसुचित जाति एवं अनुसुचित जनजाति के लघु एवं सीमांत किसानों को सिंचाई के लिए बोरिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है
  • साथ ही किसानों को बोरिंग के लिए पंप सेट की व्यवस्था करने के लिए बैंकों से कर्ज भी उठाये जाते हैं
  • सामान्य जाति के 0.2 हेक्टेयर न्यूनतम जोत सीमा वाले किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं
  • यदि किसी स्थिति में किसान के पास 0.2 हेक्टेयर से कम ज्योत सीमा है तो वह किसान समूह बना कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं
  • अनुसुचित जाति जनजाति के किसानों के लिए कोई जोत सीमा निर्धारित नहीं है
  • UP Nishulk Boring Yojana के मध्यम से प्रदेश के किसानों को पर्याप्त मात्रा में अच्छे से पानी मिल रहा है जिससे फसल में गुणवत्ता आ रही है
  • यह योजना किसानों की आय में वृद्धि कर रही है जिससे किसान आत्मनिर्भर बन रहे हैं

UP Nishulk Boring Yojana के अंतर्गत अनुमन्य अनुदान

कृषक की श्रेणीअनुमानीय अनुदानअनुमानीय अनुदान
बोरिंग निर्माण हेतुपंप सेट स्थापना हेतु
सामान्य श्रेणी के लघु कृषकअधितकम ₹3000 प्रति बोरिंगयूनिट कास्ट 11300 का 25% अधिकारम 2800 प्रति पंप सेट
सामान्य श्रेणी के सीमांत किसानअधितकम ₹4000 प्रति बोरिंग यूनिट कास्ट 11300 का 33% अधिक्टम 30750 प्रति पंप सेट
अनुसुचित जाति / अनुसुचित जनजाति के लघु / सीमांत किसानअधितकम ₹6000 प्रति बोरिंग यूनिट कास्ट 11300 का 50% अधिक्तम 5650 प्रति पंप सेट

नोट: बुंदेलखंड के उल्लेखनिया जनपद में चिन्हित हुए विकास खंड में बोरिंग निर्माण के लिए विकास खंड युद्ध अनुदान वास्तविक व्यय 4500 से ₹7000 जो भी कम हो अनुमान्य होगा एवं अतिरिकत अनुदान की राशि बुंदेलखंड विकास निधि द्वारा वहां की जाएगी इसके अलावा सामान्य अनुसुचित जाति एवं जनजाति के किसानों के लिए यदि बोरिंग की निर्धारित सीमा से बोरिंग की लागत अधिक होती है तो अतिरिक्‍त व्‍यय संबंध लाभार्थी द्वार प्राचलित प्रकृति के अनुस्‍वार स्‍वयं ग्रहण किया जाएगा

UP Nishulk Boring Yojana 2023 की पात्रता

  • आवेदक उत्‍तर प्रदेश का स्‍थाई निवासी होना चाहिए
  • आवेदक किसान होना चाहिए
  • किसान के पास न्यूनतम जोत सीमा 0.2 हेक्टेयर होनी चाहिए
  • यदि कृषक के पास न्यूनतम 0.2 हेक्टेयर की जोत सीमा नहीं है तो किसान किसान समूह को बनाकर इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है
  • इस योजना का लाभ केवल तभी प्राप्त किया जा सकता है जब किसान द्वारा किसी अन्य सिंचाई योजना का लाभ नहीं प्राप्त किया गया हो

उत्तर प्रदेश नि:शुल्क बोरिंग योजना आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

आवेदकों को UP Nishulk Boring Yojana 2023 का आवेदन फॉर्म भरने के लिए कुछ जरूरी कागजों की अवश्यकता होगी इन कागजों के आधार पर ही आवेदक फॉर्म भर सकते हैं नलकूप योजना हेतु अवश्यक दस्तावेज़ निमन प्रकार हैं

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक खाता पासबुक
  • जाति प्रमाण पत्र
  • भूमि संबंध दस्तावेज (नविनतम खतौनी 61 था खसरा)
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर

UP Nishulk Boring Yojana का आवेदन कैसे करें

अगर आपको ऊपर निशुल्क बोरिंग योजना का आवेदन करना है तो आपको इसकी आवेदन प्रक्रिया के बारे में पता होना जरूरी है हम आपको योजना की आवेदन प्रक्रिया के बारे में बताएंगे जा रहे हैं प्रक्रिया जाने के लिए दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें

  • आवेदक किसान को सबसे पहले योजना की अधिकारिक वेबसाइट UP Nishulk Boring Yojana पर जाना होगा
  • जिसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा
  • आपको नया क्या है के सेक्शन में जाकार दिए गए ऑप्शन में से डाउनलोड के ऑप्शन पर क्लिक कर लें
  • क्लिक करते ही आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा जिसे आप डाउनलोड कर ले और इसका प्रिंट आउट निकल कर रख ले
  • फॉर्म का प्रिंट आउट निकालने के बाद आप फॉर्म में पूछी गई जानकारी को भर दे
  • इसके साथ ही आप फॉर्म में मांगे गए सभी कागजों की फोटो कॉपी को अटैच कर ले
  • फॉर्म को पूरी तरह भर लेने के बाद में आप इसे खंड विकास अधिकारी, तहसील या लघु सिंचाई विभाग में जमा करवा ले
  • जिसके बाद आपके आवेदन पप्रक्रिया पुरी हो जाएगी

सिंचाई लघु विभाग लॉगिन कैसे करें

  • सर्वप्रथम आपको लघु सिंचाई विभाग उत्तर प्रदेश की अधिकारी वेबसाइट पर जाना होगा
  • वेबसाइट का होम पेज आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा
  • यहां पर आपको लॉगइन का ऑप्शन दिखाएगा, आपको इज़ ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • अब आपके सामने एक नया लॉगइन फॉर्म खुल जाएगा
  • इस लॉगिन फॉर्म में आपको यूजरनेम एव पासवर्ड दर्ज करना है
  • इसके बाद स्क्रीन पर मौजुद कैप्चा कोड दर्ज करना है
  • अंत में आपको लॉगिन के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • इस तारीके से आप सुरक्षित लॉगिन कर सकते हैं

संपर्क विवरण

  • कार्यलय का पता: मुख्य अभियन्ता, लघु सिंचाई विभाग, तृतीय तल, उत्तर विंग, जवाहर भवन, लखनऊ 227001
  • फोन नंबर: 228627/ 228601 / 228670
  • फैक्स: 2286932
  • ईमेल [email protected]

हमने आपको अपने लेख में UP Nishulk Boring Yojana 2023 से संबंध सभी जानकारी को हिंदी में विस्तारपुर्वक बता दिया है यादी आपको जानकरी पसंद आई हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं या इसे संबंध कोई भी सवाल या जानकारी आपको जनना है आप को हमें मैसेज कर सकते हैं हम आपके सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे

Also Read Related Post

उत्तर प्रदेश मुफ्त बोरिंग योजना क्या हैं?

मुफ्त बोरिंग योजना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा शुरू की गई एक महत्वाकांक्षी योजना हैं। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के सीमांत और लघु किसानों के लिए खेतों में फ्री बोरिंग उपलब्ध कराएं जाएंगे। ताकि किसान अपनी उपज को समय पर पानी दे सकें।

क्या उत्तर प्रदेश मुफ्त बोरिंग योजना का लाभ राज्य के सभी किसानों को दिया जाएगा?

जी नही इस योजना का लाभ प्रदेश के सिर्फ सीमांत और छोटे लघु किसानो को दिया जाएगा। जिनके पास 0.2 हेक्टयर कृषि भूमि होगी।

यूपी नलकूप योजना का आवेदन करने के लिए क्या क्या चाहिए?

आपको उत्तर प्रदेश नलकूप योजना का आवेदन फॉर्म भरने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट आपको जमा करने होंगे जैसा कि हमने आपको आर्टिकल में ही बताया कि कौन कौन से डॉक्यूमेंट यहां पर आपको सबमिट करने होंगे?

UP Free Boring Yojana/Nalkup Yojana 2023 के लाभ ?

इस योजना के अंतर्गत लघु कृषकों को 5,000 रूपये अनुदान दिया जायेगा। इस योजना के अंतर्गत सीमान्त किसानों को 7,000 रूपये अनुदान दिया जाएगा। एससी/एसटी वर्ग के लाभार्थियों को योजनांतर्गत अधिकतम 10,000 रूपये अनुदान दिए जाएगा।

उत्तर प्रदेश फ्री बोरिंग योजना क्या है ?

मुफ्त बोरिंग योजना उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा संचालित एक कृषि संबंधित योजना है जिसके तहत सरकार उत्तर प्रदेश में आने वाले किसानों को अपने खेतों में पंपसेट लगाने के लिए आर्थिक सहायता देगी ताकि उन्हें सिंचाई करने में कोई परेशानी ना हो I

Leave a Comment